प्यार का पहला वो ख़त…Pyar Ka Pehla Wo Khat…

pyar ka pehla wo khat

Advertisements

4 thoughts on “प्यार का पहला वो ख़त…Pyar Ka Pehla Wo Khat…

  1. Dr.Hitesh Adatiya

    हा ये सही है,
    महोब्बत ही इबादत है,
    एक सुन्दर गाने की पंक्ति याद आ रही है,

    जबसे तुजसे मोहब्बत मैं करने लगा,
    तब से जैसे इबादत मैं करने लगा,
    मैं काफिर तो नहीं,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
    मुझको बंदगी आ गयी,,,,,,,,,,,,,,,

    अच्छी रचना के लिये शुक्रिया,
    नम्रता जी।

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s