लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है…Life Mein Har Dost Jaroori Hota Hai…

लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है..

कोई पॅरासिटेमॅाल सा माईल्ड होता,
किसी में डाईक्लोफिनॅक पॅावर होता,
थोडा कम या ज्यादा काम करता है,
लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

कोई अमोक्सीसीलीन जैसा होता,
तो कोई पिपेरासीलीन सा होता है,
असर तो सब में होता ही है मगर,
लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

कोई ताजा ऑक्सीजन सा होता है,
कोई स्टीरोइड का इन्जेशन होता है,
कोई दवा तो कोई दारू सा होता है,
लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

कोई करे लिग्नोकेन सा लोकलाईझ,
तो कोई करे स्पाईनल सा पॅरलाईझ,
आखिर में तो वो सुकून ही देता है,
लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

कोई चुभता इन्जेशन की सुई जैसा,
तो कोई मरहम सा मुलायम होता है,
कुछ दिनों में जख़म भर ही देता है,
लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

कोई दे ऑपरेशन सा इन्स्टंट रिलीफ,
तो कोई देता किमो की धीमी तकलीफ़,
हर अच्छा दोस्त तो दवाई जैसा होता है,
लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

कोई दवा, दारू और दुआ भी देता है,
साथ मिलकर बीमारी को दूर भगाता है,
चलो दोस्ती की दुवाओं का जश्न मनाते है,
क्यों की लाईफ में हर दोस्त जरूरी होता है।

डॅा नम्रता “दवा-दारू” कुलकर्णी
बेंगलुरु
१०/१२/१६💉💊

💊